इस एक गलत निर्णय से किंग्स इलेवन पंजाब ने अपने ही सभी फैन्स को बनाया अपना दुश्मन


Third party image reference
इस आईपीएल 2018 में इस बार किंग्स इलेवन पंजाब के लिए एक बार फिर से बुरे दिन शुरू हो चुके है। एक समय जब ये आईपीएल 11 शुरू हुआ तो सबने यही उम्मीद लगाई थी कि कम से कम 10 साल के बाद तो ये टीम सुधार कर लेगी अपने आप मे। इस बार तो खिताब जीत ही लेगी किंग्स इलेवन पंजाब की टीम

पंजाब टीम का एक बड़ा गलत निर्णय

Third party image reference
लेकिन कहते है ना ढाक के तीन पात, इस टीम के कान पार जू तक नहीं रेंगी। शुरुआत में अपने फैन्स की सब उम्मीदों को जगा दिया कुछ मैच जीतकर, लेकिन इसके बाद तो बस टीम के पक्ष में आ रही है हार ही हार। कल के मैच में तो हद ही हो गयी जब रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम ने किंग्स इलेवन पंजाब को पहले तो 88 रन पर आल आउट कर दिया। पंजाब को कोई भी बल्लेबाज अपनी ज़िम्मेदारी निभाता नही दिखा
युवराज को फिर नही खिलाया


Third party image reference
और फिर इसके बाद बिना कोई विकेट खोये इस मैच को 10 विकेट से जीत लिया। किंग्स इलेवन पंजाब ने एक बार फिर युवराज सिंह और डेविड मिलर को इग्नोर किया। अपने इस बड़े गलत निर्णय से किंग्स एलेवन पंजाब ने अपने सभी फैंस को अपना ही दुश्मन बना लिया हैं। फैंस ने साफ साफ कह दिया है कि वो अब पंजाब टीम का समर्थन नही करेंगे, युवराज नही तो किंग्स इलेवन पंजाब कभी भी जीत नही सकती। फिलहाल तो टीम ने नंबर 3 का स्थान छोड़ दिया अब वो नंबर 5 पर आ गई है इस पॉइंट्स टेबल पर।